Home / Business / प्राइवेट सेक्टर के प्रोडक्शन ने तोड़ा पिछले तीन सालों का रिकॉर्ड

प्राइवेट सेक्टर के प्रोडक्शन ने तोड़ा पिछले तीन सालों का रिकॉर्ड

business-growth-graph-hires

देश में प्राइवेट सेक्टर की गतिविधियों में मार्च के दौरान अच्छी तेजी देखने को मिली है। इस दौरान निक्केई इंडिया मिश्रित पीएमआई उत्पादन इंडेक्स 54.3 पर पहुंच गया। बीते 37 महीनों में यह सबसे अधिक है। फरवरी में यह 51.2 पर था। यह इंडेक्स मैन्युफैक्चरिंग और सर्विसेज दोनों क्षेत्र की गतिविधियों को बताता है। इंडेक्स का 50 से ऊपर रहना गतिविधियां बढ़ने और 50 से कम होना घटने को दर्शाता है। निक्केई इंडिया के सर्वे में कहा गया है कि नए ऑर्डर की संख्या बढ़ी मैन्युफैक्चरिंग उत्पादन की वृद्धि में भी तेजी आ रही है। इसलिए निजी क्षेत्र की उत्पादन वृद्धि में इसका योगदान रहा। इस बीच सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी मापने वाला इंडेक्स मार्च में 54.3 पर पहुंच गया जो जून 2014 से अब तक का उच्चतम स्तर है। फरवरी में यह 51.4 पर था। सर्वे करने वाली संस्था मार्किट की अर्थशास्त्री पॉलियाना डी लीमा ने कहा, ‘मार्च पीएमआई के सर्वे से पता चलता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए वित्त वर्ष की समाप्ति काफी अच्छी हुई है।

रोजगार ज्यादा नहीं : सर्वे में कहा कि नए कारोबार और उत्पादन में तेजी के बावजूद रोजगार का रुझान नरम रहा। लीमा ने कहा, “यह एक निराशाजनक बात है, लेकिन 2015-16 में रोजगार के रुझान में ज्यादा बदलाव नहीं हुआ है। सर्विस सेक्टर की कंपनियां अगले 12 माह में सेक्टर गतिविधियां बढ़ने को लेकर आशावादी हैं।’

loading...

Check Also

अमेरिकी कंपनी ब्लैकस्टोन 7 करोड़ में खरीदेगी भारतीय कंपनी एमफेसिस

अमेरिकी कंपनी ब्लैकस्टोन भारत की आईटी कंपनी एमफेसिस को खरीदेगी। एमफेसिस में हेवलेट पैकार्ड (एचपी) ...

Leave a Reply